कोविड वैक्सीन लें या ना लें ? कोविड वैक्सीन के बारे में कुछ बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है !!

भारत में कोरोना का क़हर अब अपने चरम पर है । कुछ कहा नहीं जा सकता की यह क़हर अभी और बढ़ेगा या इसके बाद कम होना शुरू होगा । किसी के पास इसका सही जवाब नहीं है ।

ऐसे समय में वैक्सीन ही एक मात्रा बड़ा सहारा दिख रही है । पर वैक्सीन लगने के बाद देश भर में हो रही कुछ मौतें आम जनमानस के मन में संशय भी पैदा कर रही है । इसलिए कोरोंना वैक्सीन से भी लोगों को डर लग रहा है ।

लोगों के मन में प्रश्न उठ रहा है की वैक्सीन लगाना चाहिए या नहीं लगाना चाहिए । क्योंकि वैक्सीन पर अभी भी कई प्रश्न चिन्ह है । जैसे कि वैक्सीन का असर कितने समय तक रहेगा इसका अभी किसी के पास जवाब नहीं है । कुछ वैक्सीन अभी भी ट्राइयल स्टेज में ही है पर लोगों को दीं जा रही है । कुछ लोग तो इस बीमारी को ही अंतर राष्ट्रीय साज़िश समझ रहे है । ऐसे में क्या किया जाय ?

इस पर मेरी पर्सनल राय है की चाहे जो कुछ भी हक़ीक़त हो या साज़िश हमें सावधानी बरतनी ही होगी । अब चाहे मजबूरी समझें या ज़रूरत समझें पर फ़िलहाल वैक्सीन लेना ही बेहतर है ।और कोई विकल्प नहीं है हमारे पास । जो लोग एलिजिबल है उन्हें वैक्सीन ले ही लेना चाहिए । आज नहीं तो कल सबको लेनी ही पड़ेगी ऐसा मेरा अनुमान है ।

भारत में इस समय दो वैक्सीन उपलब्ध है एक सिरम इंस्टिटूट की (Covishield) और भारत बायोटेक की (Covaxin) । सिरम की वैक्सीन आक्स्फ़र्ड ने डिवेलप की है और भारत बायोटेक की एक दम देशी है यही भारत में डिवेलप और मैन्युफ़ैक्चरिंग है।

समस्या यह है की वैक्सीन लगने के बाद बहुत से जगह से बुरी खबरें भी आ रही है । इसलिए वैक्सीन लेने सो लोग कतरा रहे है ।

अब हम जिस स्थिति में है वैक्सीन लेने से इंकार तो नहीं कर सकते परंतु कुछ सावधानी बरतनी ज़रूरी है ।

किसी भी मेडिकल प्रोडक्ट के साथ लीफ़्लेट या फिर फ़ैक्ट शीट संलग्न रहती है । दोनो वैक्सीन के साथ भी लीफ़्लेट रहती है उस पर लिखा होता है की किन परिस्थितियों में वैक्सीन लेना है और किन परिस्थितियों में वैक्सीन नहीं लेना है ।

जो भी वैक्सीन लगवाएँ उसकी फ़ैक्ट शीट अच्छी तरह से पढ़ ले । कुछ प्रश्न हो तो डॉक्टर से बात करे । उसके बाद वैक्सीन लगवायें । भारत में हो यह रहा है की लोग लीफ़्लेट या फ़ैक्ट शीट बिना पढ़े ही लगवा रहे । शायद इसी कारण कुछ फैटल घटनायें वैक्सीन लगने के बाद सुनाई दे रही है ।

उदाहरण के लिए Covishield वैक्सीन लीफ़्लेट का यह एक पार्ट देखिए –

कोवशीड टिका लेने से पहले आपको अपने स्वास्थ्य प्रदाता को क्या बताना चाहए?

स्वास्थ्य प्रदाता को अपनी स्वास्थ्य संबंधी परिथतयके बारे मेंसब कु छ बताएं, जिसमें निम्ननिलखत बातशामिल होनी चाहए:

• अगर आपको किसी दवा, खाध पदाथ,किसी टिके या कोवशीड टिके से किसी सामग्री के कारण गंभीर एलेर्जी हुई है

• अगर आपको बुखार है

• अगर आपको रक्तबहने संबंधी विकार है या आप रक्तपतला करने की कोई दवा ले रहे है

• अगर प्रतिरक्षा क्षमता कम है या आप ऐसी दवाएं लेते हजो आपकी प्रतिरक्षा तंत्र को प्रभावित करती है

• अगर आप गर्भवती है या गर्भवती होने के बारे में सोच रही है

• अगर आप स्तनपान कराती है

• अगर आपको कोवड-19 के खलाफ कोई अन्य टिका दया जा चुका है।

इस टिके को लेने से पहले आप अपने स्वास्थ्यदाता से इसके बारे में परामशकरें।

भारतबायोटेक की वैक्सीन की फ़ैक्ट शीट पर भी इसी तरह की जानकारी है ।

आने वाले समय में और भी वैक्सीन आएँगी । वैक्सीन कोई भी लगवाएँ पर उसके बारे में पूरी जानकारी ले ले । उसकी लीफ़्लेट या फ़ैक्ट शीट अच्छी तरह से पढ़े डॉक्टर से बात करे उसके वैक्सीन बाद लगवाएँ ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s