बाबा साहेब डॉ0 भीमराव अंबेडकर का संक्षिप्त जीवन परिचय

बाबा साहेब का परिवार कबीर पंथ को मानने वाला मराठी परिवार था। *संविधान निर्माता*

★जन्म: 14अप्रैल 1891 महू नगर मध्यप्रदेश।
★पिता का नाम: रामजी मालोजी सकपाल।
★ माता का नाम: भीमाबाई।
★पत्नी: बाबा साहेब की दो पत्नियाँ थी 1. रमाबाई अम्बेडकर(1906-1935)।

  1. डॉ0 सविता अम्बेडकर(1948-2003)।
    ★धर्म: हिन्दू धर्म /बौद्ध धर्म।
    ★शिक्षा: मुंबई विश्वविद्यालय (बी0ए0)।
    कोलंबिया विश्वविद्यालय (एम0ए0, पीएच0डी0, एलएल0डी0)।
    लंदन स्कूल ऑफ़ इकॉमिक्स(एमएस0सी0 डीएस0सी0)।
    ग्रेज इन (बैरिस्टर-एट-लॉ)।
    ★1923 में अर्थ शास्त्र मे डी0एससी0 (डॉक्टर ऑफ़ साइंस) उपाधि प्राप्त की उनकी थीसिस “दी प्रॉब्लम ऑफ दि रूपी: इट्स ओरिजिन एण्ड इट्स सल्यूशन” पर थी
    विशेष नोट: भारतीय रिजर्व बैंक बाबा साहेब के विचारोपर आधारित है।

★ महाड़ सत्याग्रह(1927): महाड़ गाँव के तालाब का पानी सवर्ण हिन्दू और जानवर तो पी सकता था किंतु दलित हिन्दू नही तब बाबा साहेब ने सन 1927 में हजारों दलित हिंदुवो के साथ मिलकर महाड़ गाँव के तालाब का पानी पीकर इस जातीय भेदभाव से खुला संघर्ष छेड़ दिया।

कालाराम मंदिर सत्याग्रह(1930): दलित हिन्दुओ को मंदिर में जाने का अधिकार नही था दलित हिन्दुओ को यह अधिकार दिलाने हेतु सन 1930 में अपने समर्थको के साथ नासिक के कालाराम मंदिर में जबरजस्ती प्रवेश करने की कोशिश की तो वहाँ के पुजारियों ने अपने सवर्ण हिन्दुओ के साथ बाबा साहेब पर हमला कर दिया।

बाबा साहेब द्वारा भारत के विकास के लिए किए गये कार्य

■ 1942 में बाबा साहेब वायसराय की कार्य परिषद में श्रम सदस्य के रूप में कार्यरत थे तब उन्होंने श्रम विभाग के अंतर्गत एक केंद्रीय ऊर्जा आयोग का गठन किया जो नदी, बाँध, सिचाई और विधुत उत्पादन पर केंद्रित था।
● दामोदर वैली डैम, महा नदी डैम, सोन घाटी बाँध, हीरा कुण्ड डैम, तुंग भद्र बांध, भाकडा बाँध जैसे आठ बाँधो का निर्माण 4 वर्षो में पूरा किया।
● मिनरल डेवलप पॉलिसी।
● रोजगार कार्यालय का निर्माण।
● काम के आठ घंटे का निर्धारण।
● साप्ताहिक अवकाश।
● महिलाओं की श्रम कल्याण निधि।
● प्रसव काल की छुट्टियाँ।
● भूमिगत खाद्यानों के कार्यो में महिलाओं के कार्य पर प्रतिबंध।
● बीमा, स्वास्थ्य सुविधाये, महगाई भत्ता।
● औधोगिक विवाद और उन्हें सुलझाने वाले त्रिपक्षीय श्रम परिषद का गठन।

◆ बाबा साहेब ने भारत के संविधान को 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में 26 नवम्बर 1949 को पूरा कर राष्ट्रपति को समर्पित किया। गणतंत्र भारत में 26 जनवरी 1950 से संविधान अमल में लाया गया।

पुरस्कार/सम्मान
• बोधिसत्व (1956)
• भारत रत्न (1990)
• पहले कोलंबियन अहेड ऑफ देअर टाईम (2004)
• द ग्रेटेस्ट इंडियन (2012)

धर्म परिवर्तन_ बाबा साहेब ने हिन्दू समाज मे समानता का स्तर प्राप्त करने के लिए हर तरह के प्रयत्न और सत्याग्रह किये परन्तु सब निरर्थक सिद्ध हुए । 25 वर्षो तक सभी धर्मों का गहन अध्ययन करने के बाद बुद्ध धम्म को सबसे अच्छा मानते हुए कहा कि, बौद्ध धर्म की तुलना किसी धर्म से नही की जा सकती है और 14 अक्टूबर 1956 को अपने लाखों अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म अपना लिया।

★ परिनिर्वाण : 6 दिसम्बर 1956।

‘हमारी लड़ाई किसी एक जाति या धर्म से नही है बल्कि उस सिस्टम से है, जो इंसान को इंसान का दर्जा नही देता।”
डॉ0 भीमराव अंबेडकर

आप सभी को ज्ञान दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

लेखक – वेद प्रकाश सरोजशिक्षक

वेद प्रकाश सरोज शिक्षक
प्रतापगढ़,लालगंज

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s