गोरखपुर में बच्चों की मौत का कारण आरक्षण ?


देश में कुछ लोग जातिवाद की जड़े इतना फैलाना चाहते है की देश से जातिवाद कभी ख़त्म ही न हो । जातिगत भेद भाव को जन्म सिद्ध अधिकार मानते है । और इसे बकरार रखने के लिए किसी भी झूठ का सहारा लेते है ।अब एक मैसेज को ही देखिए घूम रहा है कुछ ख़ास ग्रुपो में जिसमें यह बताने की कोशिश की जा रही है की गोरख पुर में बच्चों की मौत का कारण आरक्षण है ।

बताइए बिना तथ्यों के ऐसी बात फैलाई जा रही है देश के युवाओं में आरक्षण के नाम पर ज़हर फ़ैलाया जा रहा है । यह मैसेज सोशल मीडिया पर वाइरल हो रहा है 

जिस देश में मेडिकल एडमिशन में, काबिलियत के जगह, जाति और आरक्षण को महत्त्व दिया जाता है वहां अस्पतालों में बच्चों के मौत पर हंगामा क्यों?? “
जिन्हें आरक्षण का ABC भी नहि पता ऐसे लोग युवाओं में उसके फ़ायदे बजाय नुक़सान बता रहे है वह भी बिना तथ्यों के । इन्हें लगता है आरक्षण की वजह से देश पीछे है …जबकि अमेरिका तक में आरक्षण की वजह से आज दुनिया में नम्बर १ है ।
अब मेडिकल की ही बात करे तो उत्तर प्रदेश में ज़्यादा से ज़्यादा ३०% आरक्षण है वह भी पूरी नहि भरी जाती क्योंकि लोगों के पास इतने पैसे ही नहि है । और यह ३०% भी केवल सरकारी कालेज में है परिवेट में तो कोई आरक्षण नहि है । फिर आप ही अंदाज़ा लगाइए ७०% सरकारी स्कूल और १००% परिवेट में कौनलोग डॉक्टर बन रहे है ।

 ..पर नहि फिर भी आरक्षण वाले दोषी है ..और गोरखपुर की मौत के ज़िम्मेदार …
देश के स्वस्थ मंत्री J P Nadda ( ब्राह्मण)
उत्तर देश के स्वस्थ मंत्री सिद्धार्थ सिंघ 
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी ( आदित्य सिंघ)
BRD हॉस्पिटल के इंचार्ज 

राजीव मिश्रा और पूर्णिमा शुक्ला 
गोरख पुर में १७ साल से ही एक ही सांसद है योगी जी यानी अजय सिंघ बिष्ट ।
यहाँ तक की पुष्पा गैस एजेन्सी के करता धरता दीपानकर शर्मा है जिन्होंने नोटिस देने के बाद गैस सप्लाई बंद कर दी थी ।
इंडीयन इक्स्प्रेस की रिपोर्ट भी देख लीजिए कौन गिरफ़्तार हुए है…मिश्रा एंड शुक्ला ..

http://indianexpress.com/article/india/at-gorakhpur-hospital-42-children-die-over-two-days-4820071/lite/

अब बताइए अगर जाती के आधार पर देखेंगे तो कौन दोषी है इस हादसे का ।

न ..न ना हमसे अगर कहेंगे तो हम जाती के आधार पर किसी को दोष नहि ठहराएँगे ..क्योंकि यह किसी जाती के फ़ेलियर के कारण नहि है …बल्कि सिस्टम का फ़ेलियर है ..कुछ लोगों की वजह से पूरी जाती को नहि बदनाम कर सकते इतना सेन्स है हममें ।

पर इतना ज़रूर कहगे जो लोग आज भी जाती के आधार ऊँच नीच करते है और जाती को क़ाबिलियत का पैमाना नापते है आज के युवाओं को उनसे सावधान रहनाचाहिए आप चाहे जीस जाती के हो । नहि तो कुछ लोग ऐसे हो बीना तथ्यों के आप को बरगलते रहेंगे ..अगर आप शिक्षित है पढ़े लिखे है तो जागरूक रहिए ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s